Hindi Diwas or Hindi day 2018 observed on 14th September, find here Hindi diwas images, quotes, poem and WhatsApp status to share with friends and family.

अंग्रेजी भाषा के बढ़ते चलन और हिंदी की अनदेखी को रोकने के लिए हर साल 14 सितंबर को देशभर में हिंदी दिवस मनाया जाता है।आजादी मिलने के दो साल बाद 14 सितंबर 1949 को संविधान सभा में एक मत से हिंदी को राजभाषा घोषित किया गया था और इसके बाद से हर साल 14 सितंबर को हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाने लगा। आइए जानते हैं हिंदी दिवस मनाने की प्रथा कब और कैसे शुरू हुई।

हिंदी को सबसे पहले 14 सितंबर, 1949 के दिन राजभाषा का दर्जा मिला था। जिसके बाद हर साल इस दिन को हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाता है। देश जब साल 1947 में अंग्रेजों की हुकूमत से आजाद हुआ था तो देश के सामने भाषा को लेकर सबसे बड़ा एक सवाल खड़ा था। सवाल यह था कि भारत की राष्ट्रभाषा कौन सी होगी।

ये सवाल बेहद अहम था इसलिए काफी विचार करने के बाद हिंदी और अंग्रेजी को नए राष्ट्र की भाषा के रूप में चुना गया। संविधान सभा ने देवनागरी लिपी में लिखी हिंदी को राष्ट्र की आधिकारिक भाषा के तौर पर स्वीकार किया।

हिंदी की खास बात यह है कि इसमें जिस शब्द को जिस प्रकार से उच्चारित किया जाता है, उसे लिपि में लिखा भी उसी प्रकार जाता है। 14 सितंबर, 1949 के दिन हिंदी को राजभाषा का दर्जा मिला। देश के 77% लोग हिंदी लिखते, पढ़ते, बोलते और समझते हैं। हिंदी उनके कामकाज का भी हिस्सा है।
देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने कहा था कि इस दिन के महत्व को देखते हुए हर साल 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाया जाएगा। बता दें, 10 जनवरी को विश्व हिंदी दिवस भी मनाया जाता है।

Hindi Diwas Images & Quotes

बिना इसके लगता है जीवन जैसे कोई कब्रिस्तान
हिन्दुस्तान से है हिन्दी और हिन्दी से है हिन्दुस्तान?
hindi day
hindi day

#हिंदी_भारत_की जान
हम सब की पहचान
इतने शब्द रचे हैं इसमें
लय और ताल बना लो जितनी

आसमान में इंद्रधनुष ज्यों
खींच आए रेखाएँ
जिस पर लिख देंगे
हम हिन्दी
#हिंदी_दिवस की #हिंदी_शब्द से
सभी को शुभकामनाएँ

hindi day 2018
hindi day 2018

न पूछो ज़माने को,
क्या हमारी कहानी है,
हमारी पहचान तो सिर्फ ये है,
की हम सिर्फ हिन्दुस्तानी हैं!

सभी देशवासियों को हिंदी दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं। #हिंदी_दिवस #HindiDiwas

hindi diwas 2018
hindi diwas 2018

“हिंदी भाषा नहीं भावों की अभिव्यक्ति हैं
यह मातृभूमि पर मर मिटने की भक्ति हैं”

hindi diwas poem
hindi diwas poem

अंग्रेजी पढ़ि के जदपि, सब गुन होत प्रवीन,
पर निज भाषा-ज्ञान बिन, रहत हीन के हीन…

hindi divash
hindi divash

सरस, सरल मनोहारी है।
अपनी हिंदी प्यारी है।।

hindi diwas
hindi diwas

ऊँच नीच को नहीं मानती हमारी हिन्दी …
इसमें कोई भी कैपिटल या स्मॉल लेटर नहीं होता ….! ?
#हिंदी_दिवस
#हिंदी_दिवस की शुभकामनाएं